चीनी ऐप पर प्रतिबंध का कांग्रेस सांसद ने किया स्वागत, पेटीएम बैन की रखी मांग

  • कांग्रेस नेता ने चाइनीज ऐप बैन किए जाने का किया स्वागत
  • कहा- पेटीएम को बैन करना चाहिए, बड़े पैमाने पर चीनी निवेश

चीन के साथ बरकरार तनाव के बीच भारत सरकार ने कई चाइनीज ऐप को बैन कर दिया है. इन ऐप्स के बैन की वजह गोपनीयता की सुरक्षा बताई गई है. हालांकि, कई लोकप्रिय ऐप्स के बैन किए जाने के बाद अब विपक्षी पार्टी के नेता ने पेटीएम बैन किए जाने की मांग की है. कांग्रेस सांसद मनिकम टैगोर ने जहां 59 ऐप्स के बैन पर सरकार का स्वागत किया, तो वहीं उन्होंने पीएम मोदी से पेटीएम बैन करने की मांग की.

ये भी पढ़ें- Chinese Apps Ban in India: 59 चीनी ऐप्स बैन, क्या ऐप करेंगे काम? लोग पूछ रहे ये सवाल

कांग्रेस सांसद मनिकम टैगोर ने ट्वीट किया, कुछ चाइनीज ऐप पर प्रतिबंध लगाने के सरकार के इस साहसिक कदम का मैं स्वागत करता हूं. अब नरेंद्र (पीएम मोदी) को अपना 56 इंच का सीना दिखाना चाहिए और पेटीएम को बैन करना चाहिए, जिमसें बड़े पैमाने पर चीनी निवेश है. समय वहां अपना पैसा लगाने का है जहां आपका सबकुछ हो.

वहीं, टिकटॉक सहित 59 चाइनीज ऐप भारत में बंद किए जाने को लेकर झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की. उन्होंने कहा कि चाइनीज ऐप का असर और प्रभाव गलत था, भारत सरकार ने ऐप को बैन करने में देरी कर दी है. साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि चीन की ऐप को जितना संक्रमण फैलाना था फैला दिया है.

ये भी पढ़ें- चीन पर डिजिटल स्ट्राइक, टिक टॉक सहित 59 चायनीज ऐप मोदी सरकार ने बैन किए

बता दें कि मोबाइल पेमेंट ऐप पेटीएम में चीन की कंपनी अलीबाबा ग्रुप ने बहुत बड़ा निवेश किया है. ऐसे में चीन के साथ हिंसक झड़क के बाद से बॉयकॉट पेटीएम की मांग तेज हुई थी. वहीं, चाइनीज कंपनियों ने पेटीएम के अलावा जोमैटो, उड़ान, बिग बास्केट जैसी कंपनियों में भी बड़े पैमाने पर निवेश किया है. पेटीएम में अलीबाबा, अलीबाबा ग्रुप और एंट फाइनेंशियल ने निवेश किया है.

ये भी पढ़ें- full list of chinese apps banned in india: TikTok, Shareit समेत 59 चीनी ऐप्स पर बैन, पढ़ें

Source – Aaj Tak