छात्रों की हुंकार के आगे झुके इमरान! यूनियन बहाल करने का वादा लेकिन…

  • पाकिस्तान में फिर से स्टूडेंट यूनियन बहाल करने पर विचार
  • पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने दिए हैं संकेत
  • छात्रों को लेकर नियम बनाने पर विचार कर रही सरकार

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने वादा किया है कि उनकी सरकार जल्द ही विश्वविद्यालयों में स्टूडेंट यूनियन बनाने को मंजूरी दे सकती है, लेकिन इसके लिए कुछ शर्तें लगाई जाएंगी. पिछले कई हफ्तों से पाकिस्तान की अलग-अलग यूनिवर्सिटी में छात्र सरकार के खिलाफ आंदोलन कर रहे थे, जिसके कारण कामकाज ठप पड़ा था. अब इमरान ने छात्रों को आश्वासन दिया और साथ ही साथ तंज भी कसा है.

इमरान खान ने ट्वीट कर लिखा, ‘विश्वविद्यालय भविष्य के नेता तैयार करते हैं और स्टूडेंट यूनियन इसका ही एक हिस्सा है. लेकिन दुर्भाग्यवश, पाकिस्तान की यूनिवर्सिटियां हिंसा का अखाड़ा बन गई हैं, जिसने कैंपस के माहौल को बिगाड़ा है. हम जल्द ही नए कोड ऑफ कंडक्ट तैयार करेंगे, जो दुनिया की यूनिवर्सिटियों से मेल खाते होंगे. ताकि स्टूडेंट यूनियन के कल्चर को वापस यूनिवर्सिटियों में लाया जा सके.’

आपको बता दें कि बीते कुछ हफ्तों से पाकिस्तान में छात्र शिक्षा सुविधा, फीस में कमी, स्टूडेंट यूनियन की बहाली, अभिव्यक्ति की आज़ादी के लिए मार्च कर रहे थे, ये प्रदर्शन लाहौर, कराची, इस्लामाबाद जैसे बड़े शहरों की यूनिवर्सिटी में हो रहा था जो कि सोशल मीडिया पर भी ज़ोर पकड़ रहा था.

हाल ही में छात्रों ने ऐलान किया था कि वह देश के 50 स्थानों पर मार्च निकालेंगे, जिसमें सरकार के खिलाफ हल्ला बोल होगा. सरकार की ओर से छात्रों की मांगों को लेकर एक कमेटी का गठन भी किया गया था, लेकिन छात्रों ने कहा था कि जबतक मांगे पूरी नहीं होती हैं तबतक वह अपना आंदोलन बंद नहीं करेंगे.

बीते दिनों सोशल मीडिया पर लाहौर यूनिवर्सिटी का एक वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें छात्र फैज़ अहमद फैज़ की कविताएं गा रहे थे और नारेबाजी कर रहे थे. हालांकि, बाद में उन छात्रों के खिलाफ शिकायत दर्ज हो गई थी.

Source – Aaj Tak