दिल्ली: साउथ MCD में 8 फीसदी प्रॉपर्टी टैक्स बढ़ाने की सिफारिश

  • एमसीडी ने बजट में प्रॉपर्टी टैक्स बढ़ाने का प्रस्ताव दिया गया
  • प्रॉपर्टी टैक्स में 8 फीसदी तक की बढ़ोतरी की सिफारिश

एमसीडी जल्द ही दिल्ली वालों को महंगाई का डोज देने जा रही है. दक्षिण दिल्ली नगर निगम ने प्रॉपर्टी टैक्स बढ़ाने की तैयारी कर ली है. शुक्रवार को साउथ एमसीडी का बजट पेश किया गया. एमसीडी कमिश्नर ज्ञानेश भारती ने 2020-21 के लिए बजट पेश किया.

बजट में प्रॉपर्टी टैक्स बढ़ाने का प्रस्ताव दिया गया. कमिश्नर ने प्रॉपर्टी टैक्स में 8 फीसदी तक की बढ़ोतरी की सिफारिश की. ऐसे में दक्षिण दिल्ली निगम में रहने वाले लोगों को अब ज्यादा टैक्स भरना पड़ सकता है.

बजट में प्रॉपर्टी टैक्स की 3 कैटेगरी को मर्ज कर 2 केटेगरी बनाने का प्रस्ताव दिया गया है. कैटेगरी मर्ज होने से C, D, E कैटेगरी के प्रॉपर्टी का टेक्स 11 से बढ़कर 12 फीसदी हो जाएगा. इसी तरह कमर्शियल प्रॉपर्टी पर भी टैक्स को बढ़ाने का प्रस्ताव दिया गया है.

दिल्ली वालों पर नया टैक्स लगाने की तैयारी में एमसीडी

कॉमर्शियल प्रोपर्टी की C, D, E कैटेगिरी में टैक्स को 12 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी और F, G, H कैटेगरी के प्रॉपर्टी टैक्स को 10 फीसदी से 12 फीसदी किए जाने की तैयारी है. इसके अलावा साउथ एमसीडी प्रॉपर्टी ट्रांसफर पर लगने वाले टैक्स में 1 फीसदी की बढ़ोतरी और पेशेवर टैक्स नाम के एक नए टैक्स का भार दिल्ली वालों की जेब पर डालने जा रही है.

बजट में टैक्स बढ़ाने के प्रस्ताव से आम आदमी पार्टी भड़क गई है. AAP ने बीजेपी को चेतावनी दी है कि अगर दिल्ली वालों पर टैक्स की कोई मार मारी गई तो वो उसका जोरदार विरोध करेगी. नेता विपक्ष और आम आदमी पार्टी की पार्षद किशनवती ने कहा कि दिल्ली नगर निगम में हम प्रॉपर्टी टैक्स नहीं बढ़ने देंगे.

दिल्ली में चुनावी माहौल और आम आदमी पार्टी के विरोध को देखते हुए बीजेपी ने भी साफ कर दिया है कि वह लोगों पर टैक्स का कोई नया बोझ नहीं डालना चाहती और टैक्स बढ़ाने की सिफारिशों को खारिज कर दिया जाएगा. मेयर सुनीता कांगड़ा ने कहा कि दिल्ली की जनता पर भार नहीं पड़ने दिया जाएगा.

दक्षिण दिल्ली नगर निगम भी आर्थिक मंदी के संकट से जूझ रहा है. ऐसे में उसकी आर्थिक सेहत सुधारने के लिए आय का बढ़ना जरूरी है. लेकिन आने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए बीजेपी टैक्स बढ़ाने का जोखिम नहीं लेना चाहेगी.

Source – Aaj Tak