दिल्ली: ‘ATM क्लोनिंग’ से निकाले गए NDMC के 200 कर्मचारियों के पैसे

  • ATM क्लोनिंग के जरिए उड़ा ले गए पैसे
  • 200 NDMC कर्मचारियों के गायब हुए पैसे

सरकार, लोगों से प्लास्टिक मनी और डिजीटल लेनदेन करने की बात तो कह रही है, लेकिन लोगों की मेहनत की कमाई को सुरक्षित रखने के लिए किस तरह के प्रयास कर रही है? यह सवाल इसलिए क्योंकि आए दिन कोई-न-कोई शख्स ऑनलाइन ठगी का शिकार होता रहता है. ताजा मामला नयी दिल्ली नगरपालिका परिषद यानी कि NDMC के 200 से ज्यादा कर्मचारियों का है. आरोप है कि 200 सदस्यों के अकाउंट से लाखों रुपये हैकर उड़ा ले गया.  

NDMC कर्मचारी संगठन ने आरोप लगाया है कि पिछले कुछ दिनों से उनके सदस्यों के पैसे बैंक अकाउंट से निकाले जा रहे हैं. उन्हें शक है कि उनके एटीएम का क्लोन तैयार कर लिया गया है और इसी के जरिए पैसे निकाले जा रहे हैं. यानी फर्जी एटीएम कार्ड से पैसे की निकासी हो रही है.

NDMC कर्मचारी संगठन ने इस संबंध में मैनेजमेंट को खत लिखकर बताया है कि उनके कई कर्मचारी जिनका एसबीआई बैंक में अकाउंट है उनका पैसे ‘एटीएम क्लोनिंग’ कर निकाला जा रहा है.

NDMC कर्मचारी संगठन ने बताया कि उन्हें इस बात की जानकारी तब मिली जब वहां काम करने वाले एक सदस्य अमीर यादव ने 9 फरवरी को मंदिर मार्ग पुलिस स्टेशन में इस संबंध में एक शिकायत दर्ज कराई. 7 फरवरी को अमीर यादव का कथित तौर पर मुनिरका के किसी एटीएम ब्रांच से रात 8.23 मिनट पर 15,000 रुपया निकाला गया था. जबकि उस वक्त वो अपने घर पर था.

ndmc-letter_021520042804.jpg

उन्होंने बताया कि ज्यादातर लोग जो ऑनलाइन ठगी का शिकार हुए हैं उनका खाता एसबीआई बैंक में है.   

हालांकि पुलिस को ऑनलाइन धोखाधड़ी के संबंध में सिर्फ दो शिकायतें मिली हैं लेकिन एनडीएमसी के कर्मचारी यूनियन ने बताया कि 200 से ज्यादा कर्मचारियों को ऑनलाइन धोखाधड़ी की वजह से नुकसान हुआ है.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘हमें इस संबंध में दो शिकायत मिली हैं और इसे जरूरी कार्रवाई के लिए आगे बढ़ाया गया है.’

और पढ़ें- साइबर क्राइम हब बन रहा गुरुग्राम, 30 से ज्यादा लोगों के साथ रोज हो रही ठगी

पुलिस ने बताया कि ऐसा प्रतीत होता है कि यह धोखाधड़ी एटीएम कार्ड के क्लोनिंग के जरिए हुई है.

Source – Aaj Tak